Vishwakarma Puja 2021 विश्वकर्मा पूजा क्यों किया जाता है Vishwakarma Jayanti Special

Vishwakarma Puja भारत मे मनाया जाने वाला एक पर्व है, इस दिन दुनिया के पहले इंजीनियर भगवान विश्वकर्मा की जयंती है। 2021 मे विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर को मनाया जाता है। आइये जानते है विश्वकर्मा पूजा क्यों और कैसे मनाया जाता है

विश्वकर्मा पूजा कब है ( When is vishwakarma puja 2021 )

विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर को है। जब सूर्य सिंह राशि से कन्या राशि मे प्रवेश करता है तब विश्वकर्मा पूजा आता है। इसलिए इसे कन्या संक्रांति के नाम से भी जानते है

भगवान विश्वकर्मा कौन थे क्या है विश्वकर्मा पूजा की पौराणिक कथा?

विश्वकर्मा वास्तुदेव और अंगिरसी के पुत्र थे वास्तुदेव एक ऋषि थे और बहुत बड़े विद्वान थे। अपने पिता की ही भाती विश्वकर्मा भी एक महान ऋषि थे और एक महान शिल्पकार थे। इन्होने सृष्टि के निर्माण मे भी सहयोग किया था।

भगवान विश्वकर्मा ने ही भगवान शिव का त्रिशूल और भगवान विष्णु का सुदर्शन चक्र बनाया था, था कृष्ण भगवान की द्वारिका नगरी को विश्वकर्मा ने ही बनाया था। पांडवो की इंद्रप्रस्त को भगवान कृष्ण के आदेश से विश्वकर्मा ने ही बनाया था। सोने की लंका जिसको भगवान शिव ने दक्षिणा मे रावण को दे दिया था, विश्वकर्मा जी ने ही बनाई थी।

यह भी पढ़े – विश्वकर्मा पूजा 2021 क्यों मनाई जाती है क्या है इसके पौराणिक कथा तथा वैज्ञानिक कारण Vishwakarma Puja in Hindi Status

विश्वकर्मा जयंती कैसे मनाया जाता है How vishwakarma Jayanti celebrate

विश्वकर्मा पूजा के दिन लोग अपने घरों के लोहे और लोहे से बने समनो की पूजा करते है। घर के मोटरसाइकिल, साइकिल, कार, मशीनरी, औजार इत्यादि की सफाई कर पूजा की जाती है।

विश्वकर्मा पूजा आरती ( Vishwakarma Puja Aarti )

ॐ जय श्री विश्वकर्मा प्रभु जय श्री विश्वकर्मा।
सकल सृष्टि के कर्ता रक्षक श्रुति धर्मा ॥

आदि सृष्टि में विधि को, श्रुति उपदेश दिया।
शिल्प शस्त्र का जग में, ज्ञान विकास किया ॥

ऋषि अंगिरा ने तप से, शांति नही पाई।
ध्यान किया जब प्रभु का, सकल सिद्धि आई॥

रोग ग्रस्त राजा ने, जब आश्रय लीना।
संकट मोचन बनकर, दूर दुख कीना॥

जब रथकार दम्पती, तुमरी टेर करी।
सुनकर दीन प्रार्थना, विपत्ति हरी सगरी॥

एकानन चतुरानन, पंचानन राजे।
द्विभुज, चतुर्भुज, दशभुज, सकल रूप साजे॥

ध्यान धरे जब पद का, सकल सिद्धि आवे।
मन दुविधा मिट जावे, अटल शांति पावे॥

श्री विश्वकर्मा जी की आरती, जो कोई नर गावे।
कहत गजानन स्वामी, सुख सम्पत्ति पावे॥

Vishwakarma Puja Images poster

Vishwakarma puja 2021 images poster

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *