Happy Hindi Diwas 2021 हिन्दी है हम

Hindi Diwas एक ऐसा दिन जब हिन्दी को भारत का राजभाषा घोषणा किया गया। 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी को भारत का राजभाषा का दर्जा मिला। हिन्दी एक ऐसी भाषा जिसको महात्मा गाँधी से लेकिन कर इंदिरा गांधी, नरेंद्र मोदी सब ने इसके प्रचार मे अपना अहम भूमिका निभाया है। देश के 5 ऐसे देश और भी है जहाँ हिन्दी बोली, और पढ़ी जाती है। दुनिया मे हिन्दी बोलने वालो की संख्या 129 करोड़ से भी ज्यादा है।

कहा जाता है हिन्दी से ही हिंदुस्तान और हिन्दुस्तानियो की पहचान होती है। हिन्दी बनी है संस्कृत से और संस्कृत सभी भाषाओं की जननी है। भारत मे हिन्दी के साथ इंग्लिश को भी राजभाषा का दर्जा मिला हुआ है। इंडिया मे अंग्रेजी उत्तर भारत और दक्षिण भारत के लोगो के बिच एक तीसरी भाषा है, जो दोनों तरफ के लोगो के बातचीत का रास्ता है।

हिन्दी दिवस कैसे मनाये? ( How Celebrate Hindi Diwas )

हिन्दी दिवस को आप कई तरीको से मना सकते है जैसे हिन्दी दिवस पर पोस्टर बनाया कर, ग्रीटिंग बनाया कर या अगर आप आर्ट बना सकते है तो कोई अच्छा सा आर्ट बनाया कर भी सेलिब्रेट कर सकते है। हिन्दी दिवस को मनाने का मतलब है हिन्दी का प्रचार करना। क्युकी आज के समय मे लोग हिन्दी को भूलते जा रहे है और अंग्रेजी की तरफ बढ़ रहे है। आप अपने स्कूल, कॉलेज मे हिन्दी दिवस पर कोई भाषण दे सकते है या कोई कविता बोल सकते है।

Hindi day Poster

Hindi diwas
Hindi day
हिन्दी दिवस
Hindi Diwas poster

हिन्दी दिवस का इतिहास

हिन्दी एक ऐसी भाषा जो भारत मे सबसे ज्यादा बोली जाती है लेकिन फिर भी इसको राष्ट्रभाषा का दर्जा नहीं मिल पाया है। महात्मा गाँधी का सपना था की हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाई जाय लेकिन संविधान लागु होने से पहले ही बापू स्वर्ग सिधार गए, अगर 1950 तक गाँधी जी जिन्दा होते तो आज हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा होती। अंग्रेज चाहते थे की हिन्दी भारत की राष्ट्रभाषा न बने और यही हुआ। हिन्दी को 14 सितम्बर 1949 को भारत के राजभाषा के रूप मे अपनाया गया। इसीलिए 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *