Filling Helium Gas in car – हिलियम से भारी कार के अंदर कैसा जीवन होता है? Life in helium gas

Filling Helium Gas in car, Filling Helium Gas in car mr indian hacker, helium gas experiment, mr indian hacker experiment with helium gas

क्या आपने सोचा है अगर हम नहीं लिए हमसे पर एक ऐसी कार में बैठे तो हमारा जीवन कैसा होगा? कुछ ऐसा ही एक पेमेंट किया है मिस्टर इंडियन हैकर ने, mr Indian hacker ने एक कार के अंदर हिलियम गैस भर दिया और उसमें अपने चार दोस्तों के साथ रहे। आइए जानते हैं हिलियम से भरी कार के अंदर का जीवन कैसा होता है?

Filling helium has in car

Mr Indian hacker filling helium gas in car Experiment

Mr indian hacker जो 1 साइंस एक्सपेरिमेंट वीडियोस यूट्यूब पर बनाते हैं, दिलराज सिंह ने एक कार में हिलियम गैस भर दिया, और उसने अपने दोस्तों के साथ कुछ समय बिताया। इस एक्सपेरिमेंट कॉल करने के लिए पूरी सावधानी बरती गई जिससे किसी की जान को कोई खतरा ना हो।

सबसे पहले एक कार को ऊपर से चार सेट किए गए और उससे चार पाइप निकाले गए जो अंदर जाकर एक ऑक्सीजन पाइप का काम करेगी।

उसके बाद रेडियम टैंक से हिलियम को बड़े-बड़े गुब्बारे में भर दिया जाता है। इस फैक्ट्री मेरे को कुछ इस प्रकार किया गया -i सबसे पहले कार के अंदर का गैस बाहर निकाला गया उसके लिए हीलियम के गुब्बारे को कार के अंदर रखा गया, जिससे कार के अंदर की पूरी हवा बाहर निकल जाए और फिर अंदर ही अंदर आ जा सके।

गुब्बारों में हीलियम इसलिए भरा गया है, ताकि कार के अंदर की हवा निकालने में मदद हो सके। और कार के अंदर भी नियम आसानी से भरा जा सके।

इस एक्सपेरिमेंट को करने का मकसद यह था अगर हम हिलियम गैस से भरे किसी इंवॉल्वमेंट में चले जाए तो वहां हमारा जीवन कैसा होगा। क्या हम वहां पर जिंदा रह पाएंगे या नहीं।

इस एक्सपेरिमेंट को करने के लिए बड़े-बड़े गुब्बारों में हिलियम गैस भरने के बाद तीन लोग कार के अंदर गुब्बारों के साथ चले जाते हैं और अंदर जाकर हिलियम से भारी गुब्बारों को फोड़ देते है।

हिलियम से भारी कार मे क्या होता है? What happens in a car heavier than helium?

जब एलियन चौधरी गुब्बारों को कार के अंदर फोड़ दिया जाता है तब कार के अंदर सिर्फ हिलियम गैस रहती है। एलियन से भरी एक कार में जब आदमी बोलता है तो उसकी आवाज बदल जाती है, क्योंकि अगर हम अपने अंदर के लिए गए स्कूल खींचते हैं तो इससे हमारी आवाज बदल जाती है।

यह एक्सपेरिमेंट जानलेवा भी साबित हो सकता है अगर सुरक्षा का ध्यान रखा जाए। अगर हमारा शरीर ऑक्सीजन के जगह पर हिलियम गैस लेता है तू अच्छे से शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है और दिमाग काम करना बंद कर देगा जिससे ब्रेन हेमरेज हो जाएगा और इंसान मर सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *