तेज दिमाग़ करे? यादास्त बढ़ाये। Brain Fog?

आप ने अपनी गाड़ी की चाबी कही रखी थी लेकिन अब आप कोई याद आ रहा की आप ने कहा रखी थी, आप कुछ पढ़ना चाह रहे हो लेकिन फोकस नहीं कर पर रहे हो, आप किसी काम से कमरे मे गए लेकिन याद नहीं आ रहा की क्यों गए या फिर एग्जाम मे पेपर लिखते लिखते ब्लैक आउट हो गए,  होता है न आप के साथ ऐसा भी कुछ, इस चीज को brain fog कहते है इस चीज के बारे मे आप कोई पता होना बहुत ज़रूरी है

Brain fog

Brain Fog

Brain fog हमारे दिमाग़ की एक स्थिति है ज़ब हम चाह कर भी कुछ सोच नहीं पर रहे होते है, ज़ब हमारी thinking काम नहीं कर पर रही होती है, ज़ब हम किसी चीज पर फोकस करना चाह रहे होते है लेकिन फोकस नहीं हो पर रहा होता है।

आज उस brain fog के बारे मे बताने जा रहा हु, ताकि आप को पता वो कौन की स्थिति होती है, ज़ब भी ये चीज़े आप के साथ हो रही होती है तो आप के दिमाग़ मे क्या चल रहा होता है brain fog क्यों होती है और कैसे इसको ठीक करना है।

Brain fog होती है इसका मतलब यह नहीं की सिर्फ हमारा brain ज़िम्मेदार है, brain body के सारे function कौ control करता है brain हर चीज़ से लिंक है। बहुत सारे इसके कारण होते है, कुछ कारण समझते है साथ ही मे उसका solution देखते है

आप ये देखो आज कल मेरी लाइफ कैसी है पूरी भाग दौड़ से उलझी हुई है, हर वक्त हमारे माइंड active  रहता है कभी फोन के अंदर कोई व्हाट्सएप्प का मैसेज आ गया कभी इंस्टाग्राम के अंदर कोई नोटिफिकेशन आ गया, कभी किसी का फोन आ गया कभी चैट कर रहे है कभी पढ़ाई मे व्यस्त है कभी ऑफिस मे व्यस्त है कभी घर के कामों मे, एक मिनट भी हम अपने माइंड कौ फ्री नहीं करते, इसको over stimulation कहते है। जो स्ट्रेस का करण बनता है, स्ट्रेस कभी कभी हो तो गलत नहीं है, लेकिन स्ट्रेस बार बार हो तो, ज्यादा स्ट्रेस बनता है तो कभी कभी brain fog का कारण बनता है

अपनी स्ट्रेस कौ कम करने का एक बेस्ट तरीका बताऊं, बहुत सिम्पल तरीका है – know your Limitations. अपनी लिमिटेशन को जानो। हम अपनी लिमिटेशन को समझ जाए की ये मेरी limit है इसको मै थोड़ा चैलेंज कर सकता हु, थोड़ा grow करने के लिए थोड़ा चैलेंज करता रहुगा, लेकिन हम अपनी लिमिटेशन पर ओवर प्रेशर डाल देते है, पढ़ाई मे, परफॉरमेंस मे, या किसी भी चीज को लेकर तो वो स्ट्रेस बनता है।

Brain fog से कैसे बचे?

बहुत से लोग ज़ब स्ट्रेस फील करते  है तो चाय, कॉफ़ी या सिगरेट की तरफ भागते है, ये चीज़े आप को उस वक़्त तो रिलेक्स फील करती है लेकिन बाद मे आप का स्ट्रेस और बढ़ा देता है। और आप brain fog से भी बच सकते है।

Over simulation के बाद अगली चीज जो मै आप कौ बताना चाहता हु वो है subconscious overload. आइये example के साथ समझते है, मान लो आप के बॉस ने आप कौ कोई काम दिया की आप को एक प्रेजेंटेशन बनानी है, अगले महीने कोई client आने वाला है।

उसके लिए आप कौ तैयार करनी है उसकी लिए ये responsibility आप की है। आप कहते हो yes सिर्फ हो जायेगा, लेकिन एक महीना बचा है तो आराम से बनाया लुगा, आप काम को टाल देते हो, फिर वो टाइम शुरू हो गया वो महीना शुरू हो गया आप कहते हो की तीन हफ्ते बचे है तब बनाया लुगा, अगले हफ्ते आप कहते हो अभी दो हफ्ते बचे है तब बना लुगा, उसके अगले हफ्ते कहते हो अभी टाइम इस तरह काम कौ टालते जाते हो।

जितना ज्यादा आप किसी काम कौ टालते जाते हो वो आप का brain fog बढ़ाता जाता है क्यों की आप ने काम को टाला है पर वह actually मे टला नहीं है, आप के subconscious mind मे है रजिस्टर तो हुआ है वो आप के लिए स्ट्रेस बना हुआ है की इसको करना है

ज़ब आप अपने subconscious mind को चीज़े देते जाते हो तो वो काम पर लगता जाता है तो अगर आप बहुत ज्यादा टास्क आप देते जाओगे और टालते जाओगे तो उसका फोकस डगमगाएगा  और वो आप की रोज़ की productivity मे मेमोरी मे, आप की functioning मे नुकसान करेगा

चीज़े सिर्फ सुन कर मत मानो कर के देखो न एक्सपीरियंस कर के देखो टालने की आदत को छोड़ के देखो, अपने आलस को छोड़ के देखो ज़ब साथ साथ चीज़े निपटाते जाओगे  तो कितना टाइम कितनी एनर्जी आप के पास बचेगी उस एनर्जी को फोकस पर लगा पाओगे।  कर के देखो brain fog कम होंगी

अब मै आप से cognitive issue  की बात करुँगा

Cognitive Issue

जिस तरह से body एक्सरसाइज न करे तो unfit होने लगती है, इसी तरह से brain को भी एक्सरसाइज की ज़रूरत है अगर brain एक्सरसाइज न करे तो अनफिट होने लगता है जिसकी वजह से ये cognitive issue होते है

Cognitive issues जैसे की आप की attention spem का कम होना, आप का फोकस कम होना आप का short term और long term मेमोरी affect होना, यानि की ये सब चीज़े आप को brain fog का शिकार बनाया देती है

Cognitive issue से बचने के आप के पास दो तरीके है

Meditation

Meditation आप की mind मे natural  endorphins release करता  है जिसकी वजह से आप के brain को एनर्जी मिलती है, आप का मूड uplift होता है, motivational level बढ़ता है आप फ्रेश महसूस करते हो। ये meditation brain fog मे बिलकुल वैसे ही काम करता है जैसे कोहरे मे सूरज। सूरज की रोशनी आते ही कोहरा हटना शुरू हो जाता है वैसे meditation से brain fog घटना शुरू हो जाता है

2. Games

दूसरा तरीका है की आप कुछ ऐसे गेम खेल सकते है जो आप की cognitive memory को बढ़ाये, ये गेम लॉजिकल हो सकते है कुछ puzzle हो सकते है जो आप की cognitive मेमोरी को शुरू स्ट्रांग बनाये 

अब मै आप से sleep  issues की बात करना चाहुँगा, आधी अधूरी नीद या ज़रूरत से कम ली हुई नीद बहुत बड़ा कारण है brain fog का, ज़ब आप की नीद पूरी नहीं होती तो ये  आप की मेमोरी को affect करता है। कम नीद या आधी अधूरी नीद से ही आप चिड़चिड़े बनते हो।